-->

2/12/2021

How to Start Blogging In Hindi and Meaning of Blog

आप को ऐसे बहुत से लेख मिल जायेंगे जिसे  बड़े बड़े Bloggers से ने लिखा है जिसमे बताया है की कैसे ब्लॉगिंग करे परन्तु उन्होंने जो तरीके बताये है वो उन ब्लोग्गेर्स के लिए है जो पहले से ही ब्लॉग्गिंग कर रहे है। परन्तु में इस पोस्ट में बताऊंगा की आप हिंदी में ब्लॉग्गिंग कैसे करे  और ब्लॉग का क्या मीनिंग होता है ? यानि How to Start  Blogging in Hindi and Meaning of Blog?  मैने ब्लॉग्गिंग करने से पहले  और बताने से पहले 3 साल तक इसे सीखा और इस पर रिसर्च किया है तब जा कर मेने कामयाबी पानी सुरु की  है बहुत ज्यादा तो नहीं पर रिजल्ट मिलना शुरू हो गया है इसीलिए में आप लोगो से इसे शेयर कर रहा हु। 

How to Start Blogging In Hindi
How to Start Blogging In Hindi


आम तौर पर ब्लॉग लोग टाइम पास या अपने एक्सप्रिएंस शेयर करने के लिए करते थे जिससे वो अपने ज्ञान को दुसरो के साथ बात सके।  परन्तु आज के टाइम पर ब्लॉग्गिंग पैसा कमाने के जरिया भी बन गया है जी है आप ब्लॉग्गिंग से पैसे कैसे कमाए ? (How to earn with blogging?) इस के बारे में भी बताऊंगा अपने अगले पोस्ट में।  यहाँ में SEO, On Page SEO, Back-links  की चर्चा नहीं करूँगा क्योकि ये बाद की बात है।  मुख्य रूप से यूनिक कंटेंट लिखना ही ब्लॉग का इम्पोर्टेन्ट पार्ट है। 


Table of content

1. What is the Blog ? (ब्लॉग क्या है ?)

2. How to Start Blogging In Hindi ?

3. ब्लॉग का टॉपिक या NICHE 

4. ब्लॉग के लिए टेम्पलेट/थीम 

5. Keyword Research  कैसे करे ?  

6. ब्लॉग के लिए Thumbnail या थंबनेल  बनाना 

7. ब्लॉग कितने शब्दों का होना चाहिए 


यदि आप मेरे द्वारा बातये गए बातो को ध्यान रखते है और आप ब्लॉग्गिंग के लिए सीरियस है तो आप को इस ब्लॉग्गिंग के फिल्ल्ड में कोई नहीं रोक सकताहै।  बस आप सीरियस होने चाहिए। 


तो शुरू करते है आज का टॉपिक जो है : How to Start Blogging in Hindi and Meaning of Blog 


1.  What is the Blog ? (ब्लॉग क्या है ?)

आज के टाइम में यदि आप किसी से पूछेंगे की ब्लॉग क्या है ? तो आप को जवाब मिलेगा की ब्लॉग का मतलब आर्टिकल / लेख लिखना होता होता है। 
परन्तु में आप को बता देता हु की इसका असली मतलब क्या होता है : ब्लॉग का हिंदी में  मतलब होता है चिठ्ठा। 
ब्लॉग एक प्रकार का online journal या एक प्रकार का डायरी होती है जाहा लोग अपना experiences या अपनी hobbies लिखते है। ब्लॉग में लोग अपना टेक्निकल ज्ञान या किसी इनफार्मेशन के बारे में जानकारी लिखते है जो लोगो के काम आये।  इसी लिए लोग ब्लॉग को पढ़ना पसंद करते है। 


(Meaning of Blog In Hindi)


यदि छोटे शब्दों में बोले तो ब्लॉग वह लेख होता है जहा लोग अलग अलग टॉपिक पर अपने अनुभव के अधार पर लेख  लिखते है या अपना ज्ञान लोगो के बिच बाटते है।


अब मुझे लगता है की आप को पता चल गया होगा की वास्तव में ब्लॉग क्या होता है ?  यदि आप को ये बात पता चल गया है तो आप के लिए किसी ब्लॉग को लिखना  मुश्किल काम नहीं है। और आप ब्लॉग को शुरू कर सकते है।  


2. How to Start Blogging In Hindi ?


आज कल लोग एक दूसरे को देख कर ब्लॉग्गिंग के नाम पर बस कुछ भी लिखना शुरू कर देते है इस उम्मीद से की जल्दी ही इनकम या पैसे आना शुरू हो जायेगा। और कुछ टाइम लिखने के बाद जब कोई रिजल्ट नहीं आता तो ब्लॉग्गिंग को बंद कर देते है। मैं आप को बता दु की ब्लॉग्गिंग एक प्रकार का कला है जिसे ठीक से किया जाये तो कामयाबी जरूर मिलती है,  हाँ हो सकता है की थोड़ा समय लग जाये। चलिए में आप को बताता हु की ब्लॉग्गिंग कैसे शुरु करे वो भी हिंदी में क्योकि इंग्लिश में तो आप को बहुत मिल जायेंगे।  हिंदी में ब्लॉग्गिंग शुरू करने के लिए जिसकी जानकारी जरुरी है उनको में निचे डिटेल्स में लिखा है ध्यान से पढ़े। 



3.  ब्लॉग का टॉपिक या NICHE 


जैसा की मेने आप को ऊपर बताया की लोग देखा देखी बस लिखना शुरू कर देते है और रिजल्ट कुछ आता नहीं और ब्लॉग्गिंग बंद कर देते है। ऐसा इसलिए होता है क्योकि उन्हें पता ही नहीं होता की उन्हें कौन सा टॉपिक लेना है या वे किस टॉपिक पर अच्छे से लिख सकते है। ब्लॉगगिंग में टॉपिक की ही सबसे ज्यादा जरूरत होती है इसके बाद SEO, Back-links, इन सब की जरूरत परती है यदि आप के पास कोई टॉपिक नहीं है तो कुछ भी लिख देने से कुछ भी नहीं होगा बस आप का टाइम ख़राब होगा। इसलिए टॉपिक को बड़े ध्यान से चुनना ही सब सा बड़ा काम है ब्लॉग्गिंग करने के लिए। यदि आपने इस चीज़ को समझ लिया तो आपने 50% कामयाबी हासिल कर लेंगे। 

अब आपके मन में ख्याल आ रहा होगा की दुनिया भर के टॉपिक है जैसे Technical, News , Information, Science, engineering  तो आप के लिये किस टाइप का और कोन सा टॉपिक सही रहेगा। तो इसका जवाब भी आप के पास ही है। मेरे कहने का मतलब ये ही हर किसी व्यक्ति को अपने बारे में पता होता है की वो क्या कर सकता है और उसमे कितनी एबिलिटी है। 



ब्लॉग टॉपिक कैसे चुने ? : जैसा की आप का पता ही है की कोई भी blog किसी ना किसी टॉपिक/NICHE पर आधारित होता है। तो आप को भी किसी विशेष niche पर आप को ब्लॉग बनाना होगा।  यदि आप अध्यापक है तो आप एजुकेशन के ऊपर ब्लॉग बना सकते है , यदि आप एक इंजीनियर है तो आप इंजीनियरिंग का ज्ञान पर ब्लॉग बना सकते है , यदि आप वीडियो एडिटर है तो इस टॉपिक पर भी आप आपना ब्लॉग बना सकते है। 

अब कई लोग ऐसे होंगे की जो ऊपर दिए गए उदाहरण के अनुसार कुछ भी नहीं होंगे तो वो कैसे टॉपिक चुने ? देखिये में आप को बता दू की ये जरुरी नहीं है की ब्लॉग के लिए आप किसी सब्जेक्ट का ज्ञान होना ही चाहिए बस ये है की किसी खास विषय पर पकड़ होने से ब्लॉग को लिखना आसान हो जाता है।  यदि  आप ऊपर दिए गए में से कुछ भी नहीं है तो कोई दिक्कत वाली बात नहीं है। आप बिना इसके भी ब्लॉग लिख सकते है बस इसके लिए आप को कोई भी टॉपिक ले कर उसके बारे में रिसर्च करना है और जानकारी ले कर उसे आसान शब्दों या अपने शब्दों में लिखना है।  बस आप को ये ध्यान देना है की जानकारी को आपने  कॉपी पेस्ट नहीं करना है नहीं तो आप का ब्लॉग गूगल पर रेंक नहीं करेगा और आप को copyright claim मिल जायेगा और आप का ब्लॉग बंद भी हो सकता है।  बस आप जानकारी ले कर उसे आसान शब्दों में समझने का काम कीजिये और उसमें कुछ और जानकारी जोड़ सकते है तो ये और भी अच्छी बात हो जाएगी। 

अब आप समझ गए होंगे की किसी भी ब्लॉग के लिए ब्लॉग टॉपिक किए चुनना है।  इसी तरह से एक टॉपिक ले कर आप अपना ब्लॉग का सफर शुरू कीजिये। 



4. ब्लॉग के लिए टेम्पलेट/थीम : 


यदि आप नई है तो आप blogger.com जो गूगल का ही एक पार्ट है उस पर अपना फ्री में ब्लॉग बना सकते है क्योकि यहाँ होस्टिंग फ्री है और बाद में जब आप का ब्लॉग रेंक कर जाये या आप को अच्छा एक्सपीरियंस होने लगे तो आप ब्लॉग से रिलेटेड एक कस्टम domain ले कर आप ब्लॉगर पर ऐड कर सकते है। blogger.com फ्री में थीम प्रोवाइड कराता है परन्तु वो थोड़े प्रोफेशनल नहीं लगते है।  चाहे तो इसका इस्तेमाल कर सकते है या फ्री में गूगल से प्रोफेसनल थीम ले कर काम कर सकते है। यदि आप को इसमें दिक्कत आती है तो आप मुझ से कांटेक्ट कर सकते है आपकी पूरी हेल्प की जाएगी। 


  

5. Keyword Research  कैसे करे ?  :


टॉपिक के बाद आता है keyword Research का, आप कही भी ब्लॉग के बारे में पढ़ रहे होंगे तो उसमे Blog Keyword Research  के बारे में जरुर सुना होगा। आप को बता दू keyword research बहुत बड़ा हवा नहीं है जितना इसके बारे में बताया जाता है। Keyword Research कैसे करे  इस से पहले में आप को बता देता हु की Keyword Research क्या होता है ? कीवर्ड रिसर्च किसी भी ब्लॉग के लिए बहुत ही जरुरी होता है। जब हम किसी टॉपिक पर कोई लेख, पोस्ट, आर्टिकल लिखते है।  तो उस से रिलेटेड हम वर्ड को उस लेख में डालते है ताकि ब्लॉग रेंक करे। 

अब बात आती है Research की इसका सीधा मतलब यह होता है की ब्लॉगर ये देखता है की हो ब्लॉग वो लिख रहा है लोग उसके बारे में क्या क्या लिख कर सर्च करते है या ढूंढते है। क्यकि लोग एक ही चीज़ को अलग अलग तरह से लिख कर गूगल या याहू में सर्च करते है। उन्ही चीज़ो यानि कीवर्ड को अपने ब्लॉग में उसे करना होता है ताकि कोई सर्च करे तो आप का ब्लॉग उसे दिख जाये। 


आसान शब्दों में  बोले तो Keyword Research से मतलब ऐसे वर्ड को ढूँढना है जिसे लोग अपनी भाषा में लिख कर किसी ब्लॉग के लेख/आर्टिकल/या पोस्ट को ढूढंते है।

 

अब कीवर्ड रिसर्च के लिए अचरफ जो पेड है इस्तेमाल कर सकते है  पर इसे आप फ्री में भी इस्तेमाल कर सकते है कुछ लिमिटिड फीचर के साथ और आप चाहे तो गूगल कीवर्ड प्लैनेर का इस्तेमाल कर सकते है जो बिलकुल फ्री होता है। निचे में कुछ फ्री कीवर्ड रिसर्च की सर्विस देने वाली वेबसाइट का लिंक दे रहा हु जो अच्छा लगे आप उसका इस्तेमाल कर सकते है। 

Free  Keyword Research  Website/Tools 

1. wordstream

2. moz

3. wordtracker

4. semrush

5. Google Keyword Planner



Blogging के लिए बेस्ट Web Hosting यह से ले और 90% तक डिस्कोउंट ले। 

1 Bluehost 2. Hostinger 3. Hostgator  


6.  ब्लॉग के लिए Thumbnail या थंबनेल  बनाना :


Thumbnail से मतलब एक फोटो से है जो आप के ब्लॉग के टाइटल या टॉपिक के अनुसार लगाया जाता है ताकि लोग अट्रैक्ट हो कर आप के ब्लॉग पर आये।  आप को बता दू लगभग 50% लोग किसी फोटो को देख कर क्लिक करते है। आप एक बात का ध्यान जरुर रखे की फोटो पर अपने टाइटल के अनुसार एक टैग लाइन जरूर लिखे। आप जो भी फोटो लगाए उसमे फोटो का कैप्शन और alt जरूर लिखे ताकि आपकी फोटो भी रेंक हो।  


थंबनेल में ध्यान देने के कुछ पॉइंट


1.  फोटो आप खुद बनाये 
2.  कॉपीराइट वाले फोटो इस्तेमाल ना करे 
3.  फोटो का साइज कम से कम रखे 
4. 2 से ज्यादा फोटो अपने ब्लॉग पर ना डेल नहीं तो लोडिंग स्पीड काम हो सकती है , यदि जरुरी हो तो आप 2 से ज्यादा भी इस्तेमाल कर सकते है। 



7.   ब्लॉग कितने शब्दों का होना चाहिए :


आमतौर पर पुराने ब्लॉगरों की माने तो ब्लॉग का आर्टिकल कम से कम 1500 - 2000 वर्ड्स का होना चाहिए ताकि रेंक करे और एडसेन्स भी अप्रूव हो जाये।  परन्तु गूगल ने ऐसा ऑफिसियल कुछ भी लिमिट नहीं रखा है।  गूगल बोलता है बस आप का कंटेंट यूनिक होना चाहिए और किसी का नक़ल न हो।  आर्टिकल ऐसा हो जिससे लोगो की हेल्प हो यानि लोग ब्लॉग पर आये और पढ़े। यदि काम शब्दों में अच्छा यूनिक आर्टिक्ल या पोस्ट लिखते है तो तो भी रेंक कर जाता है और एडसेंस से अप्रूव भी हो जाता है।  पर में बोलूंगा की आप 1500 - 2000 वर्ड्स तक लिखने  का प्रयास करे और कोसिस करे की फालतू की चीज़े लिख कर आर्टिक्ल को लम्बा ना करे।



आशा करता हु आप को मेरे इस ब्लॉग पोस्ट से जवाब मिल गया होगा निचे लिखे सवालो का या कन्फूशन का। 

  1. types of blog in hindi
  2. blog meaning in hindi
  3. personal blog in hindi
  4. meaning of vlog in hindi
  5. personal blog meaning in hindi
  6. personal blog meaning instagram in hindi
  7. blogging meaning

NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
 

Delivered by FeedBurner